Share
Share
shivam
  • 15th Jan 19

  • By Shivam Kumar

मेरा नाम शिवम् कुमार है। मैं भीम राओ आंबेडकर कॉलेज का विद्यार्थी हूँ। छोटा मुँह बड़ी बात लगेगी लकिन मेरा मानना है की "ज़िद्द सफलता की कुंजी है" | किसी भी स्थिति को सकारात्मक रूप से देखेंगे तो हमे उस में आगे बढ़ने की राह ज़रूर मिलेगी। मैं यहाँ पर आपको एक वाकया बताना चाहता हूँ जिससे मेरा रूपांतरण हुआ। जब मैं 10वि कक्षा में था और बिलकुल भी पढ़ाई में मन नहीं लगता था, मैं जिस टूशन की क्लास में पड़ता था उसके अध्यापक ने उससे दो टूक बात करी जिसका मुझ पर गहरा परभाव पड़ा। उन्होंने कहा की क्या तुम उम्र यू ही बिता दोगे या कभी कुछ कर दिखने की भी हिम्मत करोगे, इस बात ने मुझे इतना झकझोरा की मैं सोच में पड़ गया। सोचते-सोचते मन में विचार आया की क्यों ना मैं भी कुछ कर दिखाऊ और मेरे अध्यापक की सोच मेरे लिए बदल डालू। मैंने ज़िद्द पकड़ी की मैं पढ़ाई में अवल आकर अपने आप को सफलता की ओर ले जाऊंगा। ज़िद्द पर मेहनत का छौंक लगाकर मैं ना सिर्फ 12वि कक्षा में पास हुआ बल्कि विश्विद्यालय में भी 95% अंक प्राप्त किये। एक वक़्त था जब मैं पड़ता नहीं था और आज मैं कई बच्चो को टूशन पड़ता हूँ।

अपने अध्यापक के द्वारा अपमानित होने पर मैंने ज़िद्द ठानी और कुछ कर गुज़रा।

क्या है आपकी कहानी ज़िद्द की ? हमें बताएँ   +91-8448983000