• January 6.2021

  • चेतन बजाड़

मेहनत, लगन, हौसला और सपनों को पूरा करने की जिद। इंदौर, मध्‍य प्रदेश के रहने वाले चेतन बजाड़ की सफलता उन तमाम लोगों के लिए प्रेरणा है जो मुश्‍क‍िलों से हार नहीं मानते। 26 साल के चेतन ने सिविल जज क्‍लास-रिक्रूटमेंट टेस्‍ट में सफलता पा ली है। यह उनका चैथा प्रयास था। चेतन की यह सफलता इस मायने में भी खास है कि यह उनके पिता का सपना था। चेतन के पिता गोवर्धनलाल बजाड़ इंदौर जिला अदालत में ड्राइवर हैं।

26 साल के चेतन बजाड़ ने मध्य प्रदेश हाई कोर्ट सिविल जज की परीक्षा में ओबीसी श्रेणी में 13वीं रैंक प्राप्त की है। मध्य प्रदेश हाई कोर्ट, जबलपुर की अस्थायी मेरिट लिस्ट में का नाम शीर्ष के उम्मीदवारों में शामिल है। उन्होंने परीक्षा में कुल 450 में से 257.5 अंक हासिल किए हैं। ये अंक लिखित परीक्षा और साक्षात्कार को मिलाकर जारी किए गए हैं। चेतन बजाड़ ने आरआरएमबी गुजराती हायर सेकेंडरी स्कूल से शुरूआती शिक्षा पूरी की है। इसके बाद उन्होंने श्री वैष्णव इंस्टीट्यूट आॅफ लॉ से कानून की पढ़ाई की। फिलहाल चेतन मध्य प्रदेश हाईकोर्ट में वकालत कर रहे हैं। वकालत करते हुए चेतन ने सिविल जज परीक्षा की तैयारी की और सफलता हासिल की।

उनकी इस सफलता पर क्या कहते हैं उनके पिता और दादा
इंदौर के रहने वाले चेतन बजाड़ ने बताया कि उनके पिता का नाम गोबर्धनलाल बजाड़ है, जो डिस्ट्रिक्ट कोर्ट में ड्राइवर हैं। जबकि दादा जी हरिराम बजाड़ चौकीदार के पद पर कार्यरत हैं। चेतन तीन भाई हैं। चेतन का कहना है कि मेरे पिता का हमेशा से सपना रहा कि उनके तीनों बेटों में से कोई एक तो जज की कुर्सी पर बैठे। यही विचार मन में हमेशा से रहा की मुझे उनका ये सपना पूरा करना है। चेतन आगे कहते हैं कि हर युवा किसी न किसी को अपना आदर्श मनाता है। इस लिहाज से मेरे पिता हमेशा से मेरे आदर्श रहे हैं। इस कुर्सी पर रहते हुए मेरी यही कोशिश रहेगी कि मैं लोगों को इंसाफ दिला सकूं। लॉ में स्नातक पूरा करने के बाद ही चेतन सिविल जज की तैयारी में लग गए थे। अपने आत्मविश्वास और कड़ी मेहनत के बल पर उन्होंने चौथे प्रयास में इस परीक्षा में सफलता हासिल की।

क्या है आपकी कहानी ज़िद्द की ? हमें बताएँ   +91-8448983000