• December 4.2020

  • MBA CHAIWALA

अहमदाबाद का ये चाय वाला, प्रफुल्ल बिलोरे, जो पुरे भारत में MBA CHAIWALA के नाम से मशहूर है। 22 साल के प्रफुल्ल किसी भी साधारण छात्र की तरह प्रफुल्ल भी डठ। करके, अपना करियर बनाना चाहते थे परंतु दो साल लगातार वह प्प्ड के एंट्रेंस परिक्षा में असफल रहें। वह बताते है कि तैयारी के दौरान उन्हें यह एहसास होने लगा था कि प्प्ड उनके लिए शायद नहीं है। डठ। की तैयारी से लेकर प्प्ड छोड़ने और मैकडॉनल्ड्स में काम करने तक, प्रफुल्ल ने अपना खुद का खाद्य व्यवसाय शुरू करने के विचार के साथ फंसे हुए थे, और अपनी इस उद्यमशीलता की यात्रा शुरू करने के लिए सड़क के किनारे चाय का ठेला लगाने का संकल्प लिया। उन्होंने सोच इंडिया को बताया कि उनके माता-पिता उनके इस फैसले से कतई खुश नहीं थे, उनके पिता का मानना था कि यह फैसला उनकी ज़िन्दगी खराब कर सकता है परंतु कहते है ना -खुद पर भरोसा हो तो इंसान कुछ भी कर सकता है। यह बात प्रफुल्ल बिलोर ने साबित करके दिखाई हैं।

सन् 2019 में प्रफुल्ल ने 14 फरवरी, वैलेंटाइन दे के मौके पर लोगो के लिए मुफत चाय का आयोजन किया था। असल में प्रफुल्ल ने वैलेंटाइन दे के मौके पर यह आॅफर सिंगल्स के लिए शुरू किया था और जब उनसे पुछा गया कि ’’आपने सिंगल्स के लिए ही ये आॅफर क्युं चुना?’’ तो उनका कहना था कि, ’ये मुफत चाय का आईडिया वैलेंटाइन दे के खास मौके पर ही इसलिए दिया गया क्योंकि इस दिन जहां देखो केवल कपल्स की ही बात होती है, सिंगल्स की फीलिंग सिर्फ एक कड़क चाय की पयाली ही समझ सकती है।’ उनका यह मुफत चाय का आयोजन दुनिया के अलग अलग देशों में प्रचिलित हुआ था। उन्होंने कभी नहीं सोचा था कि ये आईडिया लोगो के बीच रुझान भर देगा।

प्रफुल्ल के लिए चाय के स्टाॅल से डठ। चायवाला बनने तक का सफर बिल्कुल आसान नहीं रहा, बात-चीत के दौरान उन्होंने बताया की उनका चाय का व्यवसाय शुरूवाती दिनों में थोड़ा ढ़ीला रहा लेकिन उनकी हिमत्त नहीं टुटी। हालाकि बिना मुनाफे के प्रतिदिन चाय के स्टाॅल को चलाना बेहद ही कठिन साबित हुआ। शुरूवाती दिनों में वह प्रतिदिन महज़ रु 100 ही कमाते थे बढ़ते-बढ़ते वह रोज़ के रु 5000 तक पहुंचे लेकिन आज के समय में डठ। चायवाले का टर्नओवर करोड़ो में है। इस तरह से उन्होंने एक छोटी सी चाय की दुकान से आज डठ। चायवाला तक का सफर तय किया इसलिए कोई भी काम करो तो यह नहीं देखना चाहिए की काम छोटा है या बड़ा आप बस यह सोचो इसे कैसे छोटे से बड़े पर ले जा सकते है।

क्या है आपकी कहानी ज़िद्द की ? हमें बताएँ   +91-8448983000