ये काया पलट संभव हुई मेरी खुद की ज़िद्द और लगन से |
  • January 28.2019

  • Pranav Makkar

नमस्कार दोस्तों मेरा नाम प्रणव मक्कर है आज मैं आपको अपनी ज़िन्दगी की कहानी सुनाना चाहता हूँ। आज से 2 साल पहले मेरा वजन 126 किलो था और मैने 56 किलो वजन घटाया, यह कैसे किया और क्या क्या मुश्किलें आयी यह बताना चाहूंगा। जब मैं 10वि कक्षा में था उस वक़्त मैं बहुत खुशमिजाज़ बच्चा था, मैं बस खाता था और आराम करता था क्योकि मेरे से भी मोटा मेरा दोस्त था। लेकिन 12वि कक्षा में उसने स्कूल छोड़ दिया और स्कूल का सबसे मोटा लड़का मैं बन गया, उस समय भी मुझे ऐसा प्रतीत नहीं हुआ की मुझे वजन कम करना चाहिए। धीरे धीरे घर वालो ने बोलना शुरू किया की थोड़ा सा वजन कम करो , मैने उनकी सुनीं और gym जाना शुरू किया , शुरुवात में मैं 3.5 घंटे gym करता था , करते करते मैंने अपना वजन 26 किलो कम किया। उस वक़्त मैं हार मान चुका था क्योकि खाने को देखकर मुझे कुछ कुछ होने लगता था और मैं छुप छुप के रात को बिस्कुट खाने लग गया था। एक दिन पापा को यह बात पता चल गई उस दिन उन्होंने मुझे बोला की “कभी कुछ करना है तो अपने लिए कर दुसरो के लिए नहीं” | यह बात सुनकर मुझे बहुत बुरा लगा और मैंने दुबारा से अपनी यात्रा शुरू की और करते करते मैंने 56 किलो अपना वजन कम किया। मैंने कभी सोचा नहीं था की मैं इतना कर पाउँगा , आज भी लोग मुझे मिलते है तो बिलकुल भी नहीं विशवास करते की मैंने यह कर दिखाया, वो कहते है की ज़रूर स्टेरॉयड लिए होंगे लेकिन सच तो यह है की मैंने 2 साल से रोटी नहीं खायी।

मेरे इस सफर में मुझे बहुत मुश्किलों का सामना करना पड़ा लेकिन मैं अपनी ज़िद्द पर अड़ा रहा और मैंने अपनी ज़िन्दगी में यही सीखा की वैसे तो कोई काम आसान नहीं होता पर अगर आप किसी चीज़ को ठान लो तो हर काम आसान हो जाता है। वैसे तो प्राकृतिक रूप से 56 किलो वजन कम करना मुश्किल था लेकिन मैंने करके दिखाया और अपनी ज़िद्द को पूरा करा।

क्या है आपकी कहानी ज़िद्द की ? हमें बताएँ   +91-8448983000